Proverbs

महापुरुषों के विचार (Proverbs of Great People)

अपनी नम्रता का गर्व करने से अधिक निंदनीय और कुछ नहीं है।

मारकस औरेलियस3/29/2017 12:00:00 AM

नम्रता पत्थर को भी माँ कर देती है।

प्रेमचन्द3/28/2017 12:00:00 AM

ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो। ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो।

महात्मा गांधी3/27/2017 12:00:00 AM

धीरज सारे आनंदों और शक्तियों का मूल है।

फ्रैंकलिन3/26/2017 12:00:00 AM

पूंजी अपने

महात्मा गांधी3/25/2017 12:00:00 AM

गुरु का भी दोष कह देना चाहिए।

स्वामी रामतीर्थ3/24/2017 12:00:00 AM

न्याययुक्त व्यवहार करना, सौंदर्य से प्रेम करना तथा सत्य की भावना को ह्रदय में धारण करके विनयशील बने रहना ही सबसे बड़ा धर्म है।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन3/23/2017 12:00:00 AM

क्षमा से क्रोध को जीतो, भलाई से बुराई को जीतो, दरिद्रता को दान से जीतो और सत्य से असत्यवादी को जीतो।

महात्मा बुद्ध3/22/2017 12:00:00 AM

यदि कोई दुर्बल मानव तुम्हारा अपमान करे तो उसे क्षमा कर दो, क्योंकि क्षमा करना ही वीरों का काम है, परंतु यदि अपमान करने वाला बलवान हो तो उसको अवश्य दण्ड दो।

गुरु गोविन्दसिंह3/21/2017 12:00:00 AM

सेवा से शत्रु भी मित्र हो जाता है।

वाल्मीकि3/20/2017 12:00:00 AM
English to Hindi Dictionary
फोटो गैलरी